Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle, राजस्थान सेकंड ग्रेड अध्यापक भर्ती परीक्षा रद्द, यहां से देखे संपूर्ण जानकारी

Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle,Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle Reason, राजस्थान में लोक सेवा आयोग (Rpsc) द्वारा करवाई जा रही सेकंड ग्रेड भर्ती परीक्षा का 24 दिसंबर सुबह की पारी का पेपर रद्द कर दिया गया है जिसकी संपूर्ण जानकारी नीचे दी गई है

Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle
Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle

Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle – राजस्थान के बेरोजगार युवाओं के लिए एक बहुत बुरी खबर उदयपुर से आ रही है उदयपुर में राजस्थान सेकंड ग्रेड भर्ती परीक्षा का पेपर लीक हो गया है जिसके कारण 24 दिसंबर को सुबह की पारी में आयोजित होने जा रही परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है और अब इस पारी के लिए दोबारा से परीक्षा का आयोजन करवाया जाएगा हमने यहां आपको पेपर लीक प्रकरण की संपूर्ण जानकारी नीचे उपलब्ध करवाई है

राजस्थान में अभी आरपीएससी द्वारा 21 से 27 दिसंबर 2022 तक द्वितीय श्रेणी अध्यापक भर्त परीक्षा का आयोजन करवाया जा रहा है जिसके लिए 24 दिसंबर को ग्रुप सी के लिए जीके का पेपर आयोजित होने जा रहा था लेकिन एन वक्त पर उदयपुर में चलती बस में पेपर मिलने के कारण 24 तारीख सुबह होने जा रहे ग्रुप C Gk पेपर की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया जिससे सेंटर में पहुंच चुके अभ्यर्थियों को बिना परीक्षा दिए ही वापस लौटना पड़ा हालांकि अभी तक पूर्व में सभी करवाए गए पेपर और आगे के पेपर आरपीएससी द्वारा तिथि के अनुसार ही करवाए जाएंगे

Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Leak Information

Rpsc 2nd Grade Bharti Paper Cancle -राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा सेकंड ग्रेड भर्ती की Group C Gk पेपर का आयोजन करवाया जा रहा है जिसके लिए आज सुबह परीक्षा का आयोजन होने जा रहा था लेकिन उदयपुर के बेकरिया थाने की पुलिस ने एक चलती बस को रोककर उसमें से करीबन 50 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और उनके पास सॉल्व परीक्षा पेपर जब्त किया जिसकी आरपीएससी से तुरंत जांच करवाई और पेपर के हुबहू होने के कारण उन्हें हिरासत में ले लिया पेपर लीक प्रकरण की मीडिया सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार यह बस जालौर से आ रही थी और उदयपुर में इन छात्रों के सेंटर थे जिन्हें इसी बस में पेपर दिया गया और साथ में 7 विशेषज्ञ भी इस बस में थे जिन्होंने पेपर को सॉल्व करके छात्रों को सही उत्तर बताएं लेकिन तभी बीच में ही बस को रोक लेने के कारण इन्हें परीक्षा सेंटर पहुंचने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया और अभी पुलिस अधिकारियों द्वारा पूछता जारी है जिसके बाद इस मामले का संपूर्ण खुलासा हो सकेगा

मीडिया सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार अभ्यार्थियों को पेपर ₹10 लाख में बेचा गया था और उन्हें सॉल्व करने की गारंटी भी दी गई थी इसलिए 7 विषय विशेषज्ञ भी साथ में इस बस में पकड़े गए हैं इसके अलावा इस बस में महिला परीक्षार्थी भी शामिल थी जिन से पुलिस पूछताछ कर रही है और इस प्रकरण में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार के लिए पुलिस द्वारा छापे मारे जा रहे हैं

पुलिस ने कैसे पकड़ा पेपर लीक करने वालो को

उदयपुर पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने मीडिया को बताया कि पेपर लीक प्रकरण का मुख्य आरोपी जोधपुर निवासी सुरेश बिश्नोई है जो स्वयं सरकारी टीचर है, जिसे पुलिस ने पकड़ लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है

पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने बताया कि देर रात ही पेपर लीक का इनपुट मिल चुका था जिसके बाद टीम को एक्टिव कर दिया गया था और जैसे ही बस में पेपर सॉल्व होने की पुख्ता जानकारी प्राप्त हुई बस को रोक कर उसमें बैठे अभ्यार्थियों से पूछताछ की गई और उनसे मिले पेपर को आरपीएससी से कंफर्म करवाया और पकड़े गए पेपर एवं आरपीएससी द्वारा करवाए जाने वाले पेपर के सवाल हुबहू मिलने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करके उनसे पूछताछ की जा रही है एवं इस प्रकरण की जानकारी आरपीएससी को देने के पश्चात आरपीएससी ने इस पारी की परीक्षा को स्थगित कर दिया है अन्य सभी पारियों की परीक्षा यथावत रहेगी

पेपर लीक के बाद छात्रों में रोष

राजस्थान में आरपीएससी द्वारा आयोजित होने जा रही सेकंड ग्रेड भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण अभ्यर्थियों में काफी रोष है और अभ्यार्थियों ने जगह-जगह प्रदर्शन करके सरकार के खिलाफ नारेबाजी की कुछ जगहों पर सेंटर के बाहर ही छात्रों ने धरना दे दिया है जिन्हें पुलिस समझा-बुझाकर हटा रही है और सभी जिलों में छात्रों द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जा रहा है इसके साथ आरपीएससी के ऑफिस पर भी छात्रों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है जिसके मद्देनजर आरपीएससी भवन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है छात्रों की मांग है कि इस भर्ती के सभी पेपरों की जांच करवाई जाए और इस प्रकरण में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार करके कड़ी से कड़ी सजा दी जाए

राजस्थान में पिछले सालों में विवादित भर्तियां

  • रीट भर्ती – 16 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। 26 लाख ने आवेदन किया था। एग्जाम से तीन दिन पहले ही सेंटर से ही पेपर आउट कर दिया गया।
  • पटवारी भर्ती – 5378 पदों के लिए परीक्षा कराई थी। डमी अभ्यर्थी बैठकर नकल कराने के मामले सामने आए। भर्ती में 50 से ज्यादा गिरफ्तारी हुई।
  • वनरक्षक भर्ती परीक्षा में भी एक पारी के पेपर को लीक होने के कारण रद्द कर दिया गया था जिसे दोबारा 11 दिसंबर 2022 को आयोजित करवाया गया
  • राजस्थान हाई कोर्ट एलडीसी भर्ती परीक्षा को भी पेपर लीक मानकर रद्द कर दिया गया जिसके लिए अभी दोबारा से परीक्षा का आयोजन नहीं हो पाया है
  • जेईएन भर्ती – 533 पदों के लिए परीक्षा आयोजित कराई थी। 6 दिसम्बर 2020 को पेपर आउट होने पर रद्द की गई। 12 सितम्बर को दोबारा से परीक्षा आयोजित कराई थी।
  • लाइब्रेरियन भर्ती – 700 पदों के लिए परीक्षा कराई थी। दो घंटे पहले ही पेपर आउट हो गया था। 19 सितम्बर 2020 को फिर से परीक्षा कराई गई थी।
  • फार्मासिस्ट भर्ती – 1736 पदों के लिए भर्ती निकाली गई। भर्ती की परीक्षा कराने के लिए 5 बार घोषणा की गई। लेकिन परीक्षा कभी नहीं कराई जा सकी।
  • चिकित्सा भर्ती – आरयूएचएस की ओर से जून 2020 में दो हजार पदों पर चिकित्सा भर्ती निकाली गई। दो बार तकनीकी खामी के चलते परीक्षा रद्द करनी पड़ी। तीसरी बार में परीक्षा कराई गई।

पेपर रद्द होने के बाद मुख्यमंत्री ने किया ट्वीट

राजस्थान सेकंड ग्रेड भर्ती का परीक्षा का 24 तारीख सुबह का पेपर रद्द होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके छात्रों से कही यह बात

“मैं परीक्षार्थियों को होने वाली परेशानी महसूस कर सकता हूं परन्तु अनुचित तरीके से परीक्षा पास करने के मंसूबे पाल कर आए लोगों का चयन नहीं होने दिया जाएगा। राजस्थान में सिर्फ मेहनती युवाओं को ही उनका हक मिलेगा। मेरी अपील है कि किसी के बहकावे में आने की बजाय आप अपनी तैयारी करें।,आज 24 दिसंबर को 9 से 11 बजे शिक्षक भर्ती की सामान्य ज्ञान की परीक्षा को ऐतिहातन निरस्त किया गया है जिससे किसी भी मेहनतकश युवा के साथ अन्याय ना हो। बाकी परीक्षाएं यथावत जारी रहेंगी। सरकार किसी भी युवा के साथ अन्याय नहीं होने देगी एवं दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी।भर्ती परीक्षाओं में पार्दर्शिता के लिए हमारी सरकार ने सख्त कानून बनाया है।दुर्भाग्य से देशभर में पेपर लीक करने वाले गैंग पनप गए हैं जिससे कई राज्यों में यहां तक कि ज्यूडिशियरी एवं मिलिट्री तक में पेपर लीक जैसी घटनाएं होती हैं पर राजस्थान में सख्त कार्रवाई कर बेईमानों को जेल में बंद किया गया है।”

विशेष अपील

जैसा कि पिछले सालों में राजस्थान में जिस तरह से भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हो रहे हैं और उन्हें रद्द किया जा रहा है उसे राजस्थान के बेरोजगार युवाओं का भर्ती संस्थाओं से विश्वास उठ गया है और अब बेरोजगार युवा भर्ती परीक्षा की तैयारी करने के बजाय पेपर कैसे प्राप्त करें यह तैयारी करने में जुट गया है जो कि एक बहुत ही चिंता का विषय है सरकारी नौकरी की पाने की इच्छा में गरीब इस दौड़ से बाहर हो चुका है गरीब माता-पिता अपने बच्चे को बहुत मेहनत करके पढ़ाई करवाते हैं उसके पश्चात महंगी संस्थानों में कोचिंग करवाते हैं लेकिन फिर भी इस तरह पेपर लीक हो जाने के कारण उनकी मेहनत बेकार चली जाती है और कुछ चंद लोग पैसों के दम पर सरकारी नौकरी प्राप्त कर लेते हैं जिसे रोकने के लिए सरकार कानून ले आई लेकिन कानून को अमल मैं लाने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे जिससे कि राजस्थान के बेरोजगार युवाओं को भर्ती परीक्षाओं की निष्पक्षता में विश्वास हो सके इसके लिए सरकार को इस बार कड़े कदम उठाने होंगे और आरोपियों को ऐसी सजा देनी होगी जिससे कि दुबारा से कोई पेपर लीक करने के बारे में सोच भी ना सके और सरकार को उन कोचिंग संस्थानों पर भी रोक लगानी होगी जो 100% गारंटीड सिलेक्शन की गारंटी देते हैं क्योंकि अधिकतर पेपर लीक प्रकरण में इन्हीं संस्थानों का नाम आ रहा है, हम आशा करते हैं कि आगामी चुनाव को देखते हुए कम से कम सरकार अब तो एक ठोस कदम उठाकर पेपर लीक करने वालों को कड़ी सजा देगी जिससे युवाओं में खोया विश्वास वापस आ सके और पेपर लीक करने के बारे में कोई सोच भी ना सके ताकि राजस्थान का युवा सरकारी नौकरी पाने के लिए केवल पढ़ाई को ही विकल्प समझे

Leave a Comment